वोटों के जुआरियों ने फिर गरीबी हटाने का पासा फेंका, परनाना और दादी से लेकर आज तक फिर उसी दांव की आजमाइश का पैंतरा चला:

राहुल गाँधी को लग रहा है कि, दुनिया के सबसे समझदार इंसान अगर कोई है तो स्वयं खुद, इसलिए उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी की बढ़ती लोकप्रियता से घबरा कर एक राजनैतिक लॉलीपॉप जनता के लिए पेश की है, वही लॉलीपॉप जो उनकी दादी अपने समय में उनकी दादी गरीबों को दिया करतीं थीं यानि “गरीबी हटाओ”, फिर उनके अब्बा हुज़ूर ने भी वही किया, फिर 10 वर्ष गाँधी खानदान के गुलाम मजबूर ने भी वही राग अलापा पर किसी ने यह नहीं बताया कि आखिर गरीबी कम क्यों नहीं हुई.

राहुल गाँधी ने अब फिर उसी टाइप को कुछ और थमा दिया है, पर राहुल भैया यह सोशल मीडिया और फेसबूकिया जमाना है, पूरा इतिहास खंगाल कर आपके हाथ में रख देगी और यही अब होने जा रहा है महज 56 दिन बाद.

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *