अब समय आ गया है कि, भारत की जनता और केंद्र सरकार दोनों जम्मू और कश्मीर के मुफ्तियों और अब्दुल्लाओं के खिलाफ भी अंतिम सर्जिकल स्ट्राइक करे:

अभी हाल में फारूख अब्दुल्ला, उमर अब्दुल्ला और महबूबा मुफ़्ती के जिस तरह के बयान आये हैं उससे यह साफ़ है कि इन तीनों के दिमाग में जो जहर पल रहा है वो कितना घातक है, कोई जम्मू कश्मीर प्रान्त का तथाकथित प्रधानमंत्री बनाना चाहता है तो कोई धारा 370 और 35-A को हटाने की स्थिति में भारत से अलग हो जाने कि धमकी देता है गोया कि, कश्मीर न हो गया इनके बाप की जागीर हो गया है.

इन सब मामलों में कांग्रेस की रहस्य्मय चुप्पी बहुत से संदेहों को जन्म देती है. इन दोनों धाराओं के लिए कांग्रेस का महापाप अक्षम्य है, भाजपा का मुफ़्ती मोहम्मद सईद और उसके बाद महबूबा मुफ़्ती के साथ सरकार चलाना आत्मघाती और गलत फैसला था क्योंकि ये पहले से ही पाक समर्थित राजनीतिक दाल है, दूसरा जम्मू और कश्मीर एक ऐसा बेकाबू राज्य है जिस पर प्रयोग नहीं किये जा सकते.

सवाल यह है कि आखिर किया क्या जायें, सीधा जवाब यह है कि अब अब समय आ गया है कि धारा 370 और 35-A को तुरंत हटाया जाए और भारत की जनता और केंद्र सरकार दोनों जम्मू और कश्मीर के मुफ्तियों और अब्दुल्लाओं के खिलाफ भी अंतिम सर्जिकल स्ट्राइक करे, अगर यह विरोध करते हैं तो तुरंत जेल में ठूंस दिया जाना चाहिए. यकीन मानिये ये सत्ता के इतने आदी हो चुके हैं चंद दिनों में इनका दिमाग ठिकाने पर लग जाएगा.

आज समय आ गया कि जनता हर राजनैतिक दल से यह सवाल करे कि वो बताये वो धारा 370 और 35-A को हटाए जाने के साथ है या खिलाफ, अगर खिलाफ हैं तो जनता को अपना फैसला भी इनको सूना देना चाहिए. आजतक ऐसा इसलिए नहीं हो पाया क्योंकि जनता सोती रही, इस मुद्दे की देश की अस्मिता, सुरक्षा, अस्तित्व और राष्ट्रीय गर्व के लिए कितनी अहमियत है वो समझ ही नहीं पायी.

मित्रों फैसला आपको करना वो भी आज और अभी, देर पहले से ही हो चुकी है, अगर आप विध्वंस का इंतज़ार कर रहे हैं तो यह भी समझ लीजिये आज यह कश्मीर में है और कल यह आपका दरवाज़ा भी खटखटाएगा जरूर.

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *